कुम्भ राशि भाग्य रत्न (नीलम रत्न)

SKU: RRR11  IN STOCK

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुम्भ राशि का अधिपति ग्रह शनि है। कुम्भ राशि के जातकों के जीवन में अगर बार - बार समस्याएं आ रही है, तो मुक्ति पाने के लिए अभिमंत्रित नीलम रत्न धारण करना चाहिए।

₹3500.00 47% off ₹6500.00

Detail information

Weight/Size5.25 Ratti approx
Ring Weight4.5 - 5.5 gm approx
Ring SizeAdjustable, one size fits all
MetalPanchdhatu
OriginBangkok
Delivery TimeApprox 3-7 Days (All over India)
Order on Whatsapp +91 70112 39569

नीलम रत्न अंगूठी के लाभ

  • नीलम रत्न धारण करने से सुख - समृद्धि, शुभकामनाएं, अवसर और पदोन्नति होती है।
  • नीलम रत्न शनि देव के शुभ प्रभाव को बढ़ाने में मदद करता है।
  • नीलम रत्न धारण करने से मानसिक शान्ति मिलती है।राजनीति से जुड़े हुए लोगों के लिए यह रत्न धारण करना बहुत फायदेमंद होता है।
  • नीलम रत्न धारण करने से बुरी नजर से छुटकारा मिलता है और सकरात्मता आती है।
  • किसी जातक का स्वास्थ्य अच्छा नही रहता है, तो उसे नीलम रत्न धारण करने से शुभ फल प्राप्त होते है। और हर कार्य में विजय होता है।
  • स्त्री या पुरूष जो डिप्रेशन के शिकार है, उन्हें नीलम अवश्य पहनना चाहिए। नीलम पहनने से व्यक्ति तनावमुक्त होकर जीवन व्यतीत करता है।
  • अभिमंत्रित नीलम रत्न अंगूठी मकर व कुम्भ राशि के जातकों के लिए प्रगति के द्वार खोलता है।

किसकी होती है कुम्भ राशि

जिन जातकों का जन्‍म 20 जनवरी - 18 फरवरी के बीच हुआ हो या आपका नाम गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा में से किसी एक अक्षर से शुरू होता है, तो ऐसे जातकों की राशि कुम्भ है। जीवन में सफलता पाने और भाग्य वृद्धि के लिए कुम्भ राशि के लोगों को नीलम रत्न धारण करना चाहिए।

कहाँ से लें

इस कुम्भ रत्न से जड़ित अंगूठी को हमारे अनुभवी ज्योतिषों द्वारा अभिमंत्रित किया है, जिससे यह आपको जल्‍द ही शुभ फल दे। इस अंगूठी के साथ सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा जो इस रत्न के ओरिजनल होने का प्रमाण है।

GemUncle.com अपने सभी रत्नों और उत्पादों को अभिमंत्रित करके ही आपके पास भेजता है। GemUncle.com के द्वारा भेजे गए सभी उत्पादों के प्रमाणिकता की पूरी गारंटी है।

Reviews

No customer reviews

Leave a review

Write a review