जामुनिया माला (लैब सर्टिफिकेट के साथ)

SKU: MAL30  IN STOCK

जैसा कि हमने पहले भी बताया कि प्रचुरता में उपलब्‍ध होने के कारण इस रत्‍न को अब सेमी प्रीशियस स्‍टोन में रखा गया है। यह बेहद सुंदर और प्रभावशाली रत्‍न है। ज्‍योतिषीय लाभ के अलावा ज्‍वेलरी में भी इस स्‍टोन का इस्‍तेमाल किया जाता है।

ज्योतिष शास्त्र में जामुनिया रत्न बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। जामुनिया रत्न बहुत ही सुन्दर और आकर्षक रत्न होता है। संकट के समय जल्दी हार मान जाने वालों के लिए जामुनिया रत्न बहुत ही कारगर होता है और उन्हें संकट से बाहर निकलने में मदद करता है। यह रत्न आपको मुश्किल परिस्थितियों में लड़ने और आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद करता है।

₹1600.00 49% off ₹3100.00

Detail information

Beads Size6mm
No. of Beads108 + 1
Mala Length13-15 inch
CertificationGovernment Approved Lab
Pooja/EnergizationBasic Energization (Free)
Delivery TimeApprox 3-7 Days (All over India)
Order on Whatsapp +91 70112 39569

जामुनिया के ज्योतिषीय लाभ

  • किसी भी तरह की लत को छोड़ने के लिए जामुनिया रत्न माला बहुत ही कारगर साबित होती है।
  • किसी भी जातक की कुंडली में शनि साढ़े साती या शनि ढैया चल रही है तो उस जातक को जामुनिया रत्न की माला पहनने से लाभ मिलेगा।
  • हर विपत्ति से बचाने वाली मानी जाती है जामुनिया रत्न की माला। जामुनिया रत्न माला में सभी विपत्तियों को दूर करने की क्षमता होती है।
  • जामुनिया को कटेला भी कहा जाता है और इस माला में तनाव, डिप्रेशन दूर करने की क्षमता होती है।

कोशिकाओं को पुर्नजीवित करने और शरीर को साफ करने के लिए कुछ वैकल्पिक दवाओं में एमेथिस्‍ट माला (जामुनिया माला) उपयोगी माना गया है। आर्थराइटिस यानि गठिया, हड्डी के कैंसर और लकवे की बीमारी के इलाज में भी इस स्‍टोन को पहनने से लाभ मिलता है।

जमुनिया रत्‍न का ग्रह शनि है और यह नीलम रत्‍न का उपरत्‍न है। शनि ग्रह का प्रमुख रत्‍न नीलम होता है और इस ग्रह के उपरत्‍न के रूप में जमुनिया को जाना जाता है। यदि कोई व्‍यक्‍ति किसी कारणवश नीलम स्‍टोन नहीं पहन पा रहा है, तो वह इसके उपरत्‍न जमुनिया स्‍टोन माला को पहन सकता है।

जामुनिया माला धारण करने की विधि

जामुनिया माला को शनिवार के दिन ही पहनना चाहिए। सुबह उठने के बाद स्‍नान कर लें और घर के पूजन स्‍थल में साफ आसन पर बैठ जाएं। अब माला को गंगाजल या कच्चे दूध या तो साफ़ पानी में डुबोकर रख दें और 108 बार शनि के मंत्र ‘ऊं शं शनैश्‍चराय नम:’ का जाप करें। मंत्र का जाप करने के बाद माला को धारण करें जिससे आपको शीघ्र जामुनिया माला का लाभ मिल सके।

नोट:- नहाते समय माला को उतार कर किसी स्वच्छ स्थान पर रख दे। नहाने के पश्चात् पुनः धारण करें।

हमसे क्यों खरीदें?

GemUncle.com द्वारा भेजी गयी जमुनिया माला असली और प्राकृतिक है और सिद्ध करके आपके पास भेजी जायेगी। जिससे आप को शीघ्र ही माला का लाभ मिल सके।

Best Selling

Products
This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website Learn more. Got it!